Shayari

गाँधी जयंती पर शायरी – Gandhi Jayanti Par Shayari in Hindi

गाँधी जयंती पर शायरी - Gandhi Jayanti Par Shayari in Hindi

गाँधी जयंती : गांधी जयंती हर साल 2 अक्टूबर को मोहनदास करमचंद गांधी के जन्मदिन के रूप में मनाई जाती है। अपने पूरे जीवन में वह अहिंसा, सत्य और ईमानदारी के सिद्धांतों पर चले। उनका जन्म वर्ष 1869 में हुआ था। गांधी ‘बापू’ के नाम से लोकप्रिय हैं और उन्हें भारत के स्वतंत्रता संग्राम में उनके निस्वार्थ योगदान के लिए राष्ट्रपिता भी माना जाता है। गांधी 1916 में भारत लौटे और अहिंसा विरोध या सत्याग्रह के अपने अभ्यास के साथ भारत के स्वतंत्रता संग्राम को जारी रखा।गांधी का विवाह कस्तूरबा गांधी से 13 की उम्र में हुआ था। बाद में, वे लंदन में कानून की पढ़ाई के लिए गए और यूनिवर्सिटी कॉलेज, लंदन में दाखिला लिया। आज में आपके साथ इस पोस्ट गाँधी जयंती पर शायरी – Gandhi Jayanti Par Shayari in Hindi के माध्यम से गाँधी जयंती पर शायरी साँझा कर रहा हु |

गाँधी जयंती पर शायरी

गाँधी जयंती पर शायरी

जिसकी सोच ने कर दिया कमाल,
बदल दिया जिसने देश का हाल,
जिसने पढ़ाया सत्य और अहिंसा का पाठ,
वो थे हमारे गाँधी बापू महान।

सत्य अहिंसा का था वो पुजारी,
कभी ना जिसने हिम्मत हारी,
साँस दी हमें आजादी की,
जन जन है जिसका आभारी |

अहिंसा के वो पुजारी,
सच की राह बताने वाला,
सच्चाई का ज्ञान बताया हमें,
वों गांधी लाठी वाला |

जिन्दगी में यह मन्तर याद रखना,
सच्चाई व इमानदारी को सदा संग रखना,
हर बालक के बापू तुम्हारे साथ हैं,
सत्य के हर मुकाम पर उसका वास हैं |

महामानव वो भारत का,
अटल अहिसा पुजारी था,
गोरो को भारत से भगाया,
तन पे जिसके खादी था।

गाँधी जयंती पर अहिंसा शायरी

गाँधी जयंती पर शायरी

सत्य अहिंसा की मूर्त,
देशभक्ति की आधी थी,
तन लगोटी हाथ मे लाठी,
संत नायक वो गाँधी था।

सरल देशी वेश था,
ना कोई गुरुर,
खादी की एक धोती पहने,
राष्ट्रपिता की थी पहचान |

बापू के सपनो को फिर से सजाना है,
देकर लहू का कतरा इस चमन को बचाना है,
बहुत गा लिया हमने आज़ादी के गानों को,
अब हमें भी देशभक्ति का फ़र्ज़ निभाना है |

जिसने देश को आज़ाद कराया,
जिसने पूरे भारत को अहिंसा का पाठ पढ़ाया,
जिसने भारतीय संस्कृति का महत्व बताया,
जिसने विदेशी संस्कृति को दूर कराया,
वही महान पुरुष राष्ट्रपिता महात्मा गांधी कहलाया |

खादी मेरी जान है,
कर्म ही मेरी पूजा है,
सच्चा मेरा कर्म है,
और हिंदुस्तान मेरी जान है |

गाँधी जयंती पर प्रेरित शायरी

गाँधी जयंती पर शायरी

कहाँ गयी वो तेरी अहिंसा,
कहाँ गया वो प्यार,
गांधी तेरे देश में
ये कैसा अत्याचार।

बापू ने लड़ी धरती पर अजब लड़ाई,
ना तोप दागी ना बन्दूक चलायी,
दुश्मन के किले पर भी नहीं की चढ़ाई,
वाह रे फ़कीर तुमने कैसी करमा दिखायी |

कई बार गये जेल,
कई बार खायी है लाठियाँ,
लेकिन ना टूटा साहस,
और ना छोड़ा प्रयास,
खायी कसम भारत माता की,
जब तक है जान |

सत्य, अहिंसा परमो धर्म से,
जो फिरंगियों को धूल चटाएं,
बापू का जन्मदिन आज है,
जो हमारे राष्ट्रपिता कहाये |

ना भय जिनको हथियारों से,
ना बरछी भाला कटारों से,
सत्य की शक्ति लिए साथ में,
लड़ गए फिरंगी ग़द्दारों से |

Gandhi Jayanti Par Shayari in Hindi

Gandhi Jayanti Par Shayari in Hindi

सीधा साधा वेश था,
ना कोई अभिमान,
खादी की एक धोती पहने,
बापू की थी शान |

सदा सत्य हो जिनके साथी,
अहिंसा धर्म का पाठ पढ़ाती,
मानते जयंती 2 अक्टूबर को,
बड़े गर्व से भारतवासी |

आजादी की जला मशालें,
पूरे देश को साथ जो लाये,
सत सत नमन उन राष्ट्रपिता को,
जन्मदिन की शुभकामनाएं |

गुलामी से आज़ादी के लिए,
रूख कर लिया जिसने खादी की ओर,
कर वहिष्कार विदेशी वस्त्रों का ,
बढ़ा दिए अनगिनत कदम आज़ादी की ओर |

सत्याग्रह आंदोलन छेड़कर जिसने,
पूरे भारतीयों को एक कर दिया,
बह चली सूनामी आज़ादी की,
उपकार बहोत ही नेक कर दिया |

Gandhi Jayanti Par Best Shayari in Hindi

Gandhi Jayanti Par Shayari in Hindi

स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत के,
जिसने सपनें हमें दिखाए,
साफ स्वच्छ हो जीवन अपना,
कहीं गंदगी ना फैलाएं |

दुबला-पतला साधारण सा वेश था,
वो कभी नहीं करते थे अभिमान,
खादी की एक धोती पहनते थे,
जो बढ़ाती थी बापू की शान |

राष्ट्रपिता है गांधी जी,
महात्मा है गांधी जी,
साबरमती के संत भी कहलाते है गांधी जी,
बिना शस्त्र उठाये देश को आजादी दी,
अहिंसा की राह पर सदा चले गांधी जी |

देखो कहीं बरबाद ना हो जाये ये बगीचा,
इसको हृदय के खून से बापू ने है सींचा,
हम लाए हैं तूफ़ान से कश्ती निकाल के,
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के |

अंग्रेजों के सामने झुके नहीं,
ख़ुद से उनको ये आस था,
शरीर में ताकत नहीं थी,
पर मन में आजादी का विश्वास था |

गांधी जी के ख़्वाबों को सच कर दिखाना है,
देकर लहू का कतरा इस देश को बचाना है,
बहुत भाषण दिया और आजादी के गाने गायें,
पर अब हमें भी देशभक्ति का फ़र्ज़ निभाना है |

Gandhi Jayanti Par Best Shayari in Hindi

Gandhi Jayanti Par Shayari in Hindi

भारत के गौरव, भारत की शान,
गांधी जी थे व्यक्ति महान,
दुश्मन भी जिसका करते थे मान,
भारत का जन जन जिसका करता है सम्मान,
ऐसे महात्मा गांधी के चरणों में मेरा शत शत प्रणाम |

गाँधी जी की राह पर चलने वाला,
सत्य-अहिंसा की बात कहने वाला,
एक नए युग को जीता है,
गाँधी जी के आदर्शों को मानने वाला |

जो सत्य-अहिंसा के दम पर,
अपने जीवन का हर विजय पाता है,
जो हर मुश्किल घड़ी में धैर्य को अपनाता है,
वही महात्मा गाँधी कहलाता है |

सत्य का तेल अंहिसा की बाती,
अमर ज्योति जलती रहे,
तेरे पदचिन्हों पर बापू,
दुनिया सारी चलती रहे |

सच्चाई का शस्त्र लेकर,
और अहिंसा का अश्त्र लेकर,
तूने देश अपना बचाया ,
गोरों को था दूर भगाया |

दुश्मन से प्यार किया,
मानव पर उपकार किया,
गाँधी करते तुझे नमन,
तुझे चढ़ाते प्रेम-सुमन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *